क्यों खासतौर पर महिलाओं को मेथी का सेवन ज़रूर करना चाहिए?

7 minute
Read
महिलाओं को मेथी का सेवन ज़रूर करना चाहिए.webp

रुचि शर्मा

एक ऐसी चीज जो सभी किचन के मसाले के डिब्बे में जरूर मौजूद होती है- वह है मेथी! मेथी जिसे फैनुग्रीक के नाम से भी जाना जाता है, न केवल भोजन को एक अलग स्वाद देती है, बल्कि इसमें औषधीय गुणों की भरमार है और इसलिए आयुर्वेद में इसका महत्वपूर्ण स्थान है। मेथी के बीज आयरन और मैग्नीशियम सहित एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और मिन्रल से भरपूर होते हैं, और इस प्रकार, उनके स्वास्थ्य लाभ अपेक्षाओं से अधिक होते हैं। मेथी का मेथी दाना ताज़ा मेथी के पत्तों और कसूरी मेथी के रूप में सेवन किया जाता है, हो सकता है कि आप इसे सदियों से अपने पसंदीदा आलू मेथी या कुछ अन्य व्यंजनों के रूप में खा रहे हों, लेकिन इसके कई लाभों से अनजान हों। यह प्रख्यात साम्भर मसाले का एक घटक है जिसका दक्षिण भारतीय व्यंजनों में बहुतायत से उपयोग किया जाता है। यह पंच-फोरन मसाले का भी एक महत्तवपूर्ण भाग है। मेथी का पानी सुबह-सुबह खाली पेट पीने से कई बड़े फायदे हो सकते हैं। महिलाओं के लिए विशेष रूप से यह एक बड़ा सुपरफूड है, आइए देखें कि यह जादुई मेथी क्या-क्या करती है!

फोटो स्रोत- Amazon

पीरियड्स के दौरान दर्द कम करना

मेथी में मौजूद एल्कलॉइड्स पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने में मदद करते हैं और जो महिलाएं मेथी का पानी पीती हैं या मेथी का पाउडर लेती हैं, उन्हें पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है।

मधुमेह को नियंत्रित करने में सहायता

यह पेट में चीनी के अवशोषण को धीमा कर सकता है और इंसुलिन के कार्य में सुधार कर सकता है जिससे मधुमेह की स्थिति वाले लोगों की मदद मिलती है। आप अंकुरित मेथी दाना भी आजमा सकते हैं क्योंकि इसमें सिर्फ भीगे हुए मेथी दाने की तुलना में अधिक पोषक तत्व होते हैं।

स्तन दूध में वृद्धि

आपको याद होगा कि आप के या आपके किसी जानकार के जन्म देने के समय नयी माँ के लिए दादी या किसी अन्य परिवार के बड़ों द्वारा खास कड़वे मेथी के लड्डू तैयार किए गए होंगे? वे एक खजाना हैं! वे न केवल आपकी रिकवरी को बढ़ाने में मदद करते हैं बल्कि इससे भी आगे जाते हैं। डॉक्टरों का सुझाव है कि शिशु के लिए पोषण का सबसे अच्छा स्रोत मां का दूध है और कम से कम पहले छह महीनों तक शिशु को केवल मां का दूध ही पिलाना चाहिए। लेकिन कई महिलाओं को अपर्याप्त मात्रा में उत्पादन जैसे मुद्दों का सामना करना पड़ता है। मेथी का पानी (और वो मेथी के लड्डू!) लेने से स्तन का दूध बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

वज़न कम करना

मेथी का सेवन तृप्ति की भावना को बढ़ाने में मदद कर सकता है जो बदले में अधिक खाने की संभावना को कम करेगा और इस प्रकार वजन कम करने में मदद करेगा। यह मूल रूप से इसलिए है क्योंकि मेथी के बीज फाइबर से भरपूर होते हैं। मेथी के पानी का सुबह सेवन करने से मेटाबॉलिज्म भी बूस्ट होता है।

बालों को झड़ने से रोकें

चाहे आप इसका सेवन करें या सीधे अपने बालों में लगाएं, मेथी बालों का झड़ना कम करने में मदद कर सकती है। आप मेथी के दानों को रात भर नारियल के तेल में भिगोकर रखें। इस तेल की बालों में मालिश करने से रूसी जैसी समस्या से निजात पा सकते हैं। नियमित उपयोग आपको चमकदार मज़बूत बाल प्राप्त करने में भी मदद कर सकता है।

बेहतर हड्डी का स्वास्थ्य

फोटो स्रोत- flipkart

मेथी के पत्ते ‘विटामिन के’ का एक उत्कृष्ट स्रोत हैं जो हड्डियों के चयापचय के लिए अच्छा है। यह हड्डियों के घनत्व के नुकसान को रोकने और ऑस्टियोपोरोसिस से बचने में भी मदद करता है। कैल्शियम से भरपूर होने के कारण, यह हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है।

अच्छा पाचन स्वास्थ्य

मेथी के पानी का सेवन करने से गैस्ट्राइटिस और सूजन जैसी समस्याओं में मदद मिल सकती है। यह एसिडिटी या कब्ज की समस्या को भी कम करने में मदद कर सकता है। फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होने के कारण, यह हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद कर सकता है और इस प्रकार पाचन में सहायता करता है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

भीगे हुए मेथी के बीज कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं। इसमें मौजूद फाइबर हानिकारक एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है।

रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करना

मेनोपॉज के दौरान महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे दर्द, सामान्य तापमान में गर्मी लगना आदि। मेथी रजोनिवृत्ति की परेशानी को कम करने में मदद कर सकती है।

उपरोक्त के अलावा, एंटीऑक्सिडेंट की उपस्थिति के कारण, मेथी एक सूजन-रोधी एजेंट के रूप में कार्य करती है। साथ ही यह त्वचा के लिए भी अच्छी होता है।

फोटो स्रोत- Indiamart

लेकिन मेथी को अपनी नियमित दिनचर्या में शामिल करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, खासकर यदि आपने इसे पहले नहीं खाया है।

  • मेथी से एलर्जी दुर्लभ है लेकिन यह संभव है।
  • मेथी की प्रकृति गर्म होती है इसलिए आपको सेवन की मात्रा को नियंत्रण में रखना चाहिए।
  • बहुत अधिक मेथी का सेवन करने के कुछ दुष्परिणाम जैसे की चक्कर आना, पेट खराब होना या दस्त हो सकते हैं।
  • साथ ही गर्भवती महिलाओं को मेथी के सेवन से बचना चाहिए।
  • यदि आपको निम्न रक्तचाप या निम्न रक्त शर्करा जैसी चिकित्सा समस्याएं हैं तो आपको इसे नहीं लेना चाहिए।
  • यदि आप इसके सेवन को बढ़ाने या मेथी के सप्लीमेन्ट का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं तो आपको हमेशा पहले डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

हम आशा करते हैं कि अब आप भी मेथी के उतने ही बड़े प्रशंसक होंगे जितने मेथी के अनंत लाभों के बारे में जानने के बाद हम बन गए थे!

image-description
report Report this post