एक स्वस्थ व खुबसूरत सुपरफूड- चुकंदर, सब्जी से कई अधिक...

8 minute
Read
स्वस्थ व खुबसूरत सुपरफूड- चुकंदर.webp

रुचि शर्मा

सब्जियों के बीच हम अक्सर जिस चीज को नजरअंदाज करते हैं, वह है जड़ वाली सब्जियां और उनमें से एक है जो पोषण का पावरहाउस है और वह है चुकंदर। यह औषधीय गुणों से भरपूर, आवश्यक विटामिन, खनिज और पौधों के यौगिकों से भरा हुआ है। चुकंदर सुपरफूड के रूप में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। यह एक सुपर वर्सेटाइल रूट वेजिटेबल है जो आपके हेल्दी सलाद, जूस या एक सामान्य लंच या डिनर का हिस्सा बन सकती है। स्वादिष्ट चुकंदर का अचार बनाने की कुछ अद्भुत रेसिपी भी हैं जो अत्यंक स्वादिष्ट होती हैं और साथ ही सुपर पौष्टिक भी है। यहाँ तक कि स्वादिष्ट चुकंदर के कटलेट भी न केवल दिखने में सुंदर होते हैं बल्कि साथ ही साथ बहुत स्वादिष्ट भी होते हैं। चुकंदर का पत्ता और जड़ दोनों को ही खाया जा सकता है। चुकंदर स्वाद में भले ही मीठा होता है लेकिन इसकी पत्तियों का स्वाद कड़वा होता है। चुकंदर में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, फोलेट, विटामिन बी 6, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, मैंगनीज, आयरन और बहुत कुछ होता है!

आईए जानें चुकंदर के बारे में कुछ आश्चर्यजनक तथ्य:

बहुत कम कैलोरी

आम धारणा के विपरीत, चुकंदर को मीठा माना जाता है और कोई सोच सकता है कि इसमें काफी कैलोरी होंगी। लेकिन वास्तव में, पोषक तत्वों से भरपूर होने के बावजूद इसमें कैलोरी और वसा बहुत कम होती है। लगभग 100 ग्राम चुकंदर में केवल 44 कैलोरी होती है।

सूजन से लड़ने में मदद कर सकता है

चुकंदर में बेलेटिन नामक वर्णक की उपस्थिति होती है जिसमें संभावित रूप से सूजन कम करने के गुण होते हैं।

समय से पहले एजिंग लक्षणों को कम करने में मदद कर सकता है

विटामिन ए, कार्टेनॉयड्स और एंटीऑक्सिडेंट की उपस्थिति के कारण, चुकंदर उम्र बढ़ने के संकेतों को कम करने में मदद कर सकता है। हालांकि इसे साबित करने के लिए ज्यादा अध्ययन नहीं हैं।

गर्भावस्था के दौरान मदद कर सकता है

फोलिक एसिड से भरपूर होना निश्चित रूप से गर्भवती महिलाओं के लिए अपने आहार में चुकंदर को शामिल करने का एक अच्छा कारण है।

पाचन स्वास्थ्य में सुधार कर सकता हैं

फाइबर का अच्छा स्रोत होने के कारण चुकंदर पाचन और आंत के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है। यह बदले में पाचन स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य बीमारियों के जोखिम को कम करने में भी मदद कर सकता है।

रक्तचाप को नियंत्रण में रखने में मदद

नाइट्रेट्स की उपस्थिति के कारण, चुकंदर रक्तचाप को नियंत्रित रखने में मदद करता है जो बदले में हृदय संबंधी जोखिमों को कम करता है।

मधुमेह के खतरे को कम करने में सहायक

चुकंदर में अल्फा-लिपोइक एसिड नामक एक एंटीऑक्सिडेंट होता है जो न केवल ग्लूकोज के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है बल्कि इंसुलिन के प्रति संवेदनशीलता में भी मदद कर सकता है।

कैंसर रोधी गुण हो सकते हैं

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि चुकंदर में बीटासायनिन होता है जो एक पौधे का रंगद्रव्य है जो इसके समृद्ध बैंगनी-क्रिमसन रंग के लिए जिम्मेदार होता है। यह कैंसर रोधी गुणों से भरपूर हो सकता है।

ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सकता है

कुछ अध्ययनों से यह भी पता चला है कि एथलीटों ने इस के सेवन से अपने व्यायाम धीरज में सुधार देखा। तो, हमारे लिए, यह ऊर्जा को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

चुकंदर कब नहीं खाना चाहिए?

हालांकि यह काफी हानिरहित सब्जी है लेकिन ऑक्सालेट युक्त किडनी स्टोन के इतिहास वाले लोगों को चुकंदर जैसे उच्च ऑक्सालेट खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।

चुकंदर- सब्जी से कई अधिक

अब हम पहले से ही एक सब्जी के रूप में चुकंदर के इतने सारे फायदे जान चुके हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह एक प्राकृतिक रंग के रूप में भी इस्तेमाल होता है? हां, चौंकिए मत। आप ने देखा होगा की चुकंदर का प्राकृतिक सुंदर रंग अक्सर आपके हाथों पर थोड़ी देर के लिए रह जाता है जब आप इसे खाने के लिए काट रहे होते हैं, लेकिन वही रंग एक बेहतरीन खाद्य रंग बन सकता है और कपड़ों के लिए एक प्राकृतिक रंग भी बन सकता है!

खाद्य रंग (फूड कलर) के रूप में

आपको बस एक चुकंदर से जूस निकालना है। एक मध्यम आकार के चुकंदर से अक्सर लगभग 3 बड़े चम्मच रस निकलता है! मान लीजिए आप अपने मफिन के लिए एक सुंदर गुलाबी बटरक्रीम बनाना चाहते हैं। आपको बस बटर क्रीम में चुकंदर के रस की कुछ बूंदों को मिलाना है और उस खूबसूरत रंग को पाने के लिए इसे फेंटना है। जितनी बूंदे डालेंगे उतना ही सुंदर गहरा रंग मिलेगा। केवल ध्यान रखने वाली बात यह है कि बहुत अधिक न डालें नहीं तो चुकंदर का स्वयं का स्वाद आपके मफिन के मूल स्वाद पर हावी हो सकता है। कुछ खाद्य व्यंजनों में चुकंदर को उबाल कर कौन्संनट्रेट करने से एक बहुत गहरा लाल- बैंगनी रंग पाने का भी सुझाव दिया गया है।

कपड़े के लिए एक प्राकृतिक डाई के रूप में

Pic Source: Indiamart

बस चुकंदर से गंदगी हटा दें, उन्हें मोटा-मोटा काट लें। इन्हें एक पैन में डालें और पानी को चुकंदर से कम से कम 2 इंच ऊपर तक ढक दें। इसे तब तक उबलने दें जब तक कि चुकंदर हल्के रंग के न हो जाएं और आप इन्हें कांटे से आसानी से चुभो सकें। फिर इसे आंच से उतार लें और जब यह ठंडा हो जाए तो इसे ब्लेंडर में पीस लें। इसे छान लें और आपको अपने कपड़ों के लिए एक सुंदर डाई मिल जाएगी। आप छलनी में बचे हुए चुकंदर के गूदे को त्याग सकते हैं या उस का शाम के नाश्ते के साथ के लिए एक त्वरित स्वादिष्ट डिप बनाने के लिए उपयोग कर सकते हैं! डाई का उपयोग तब आपके दुपट्टों या अन्य कपड़ों को रंगने के लिए किया जा सकता है। इस प्यारे प्राकृतिक रंग से बहुत प्रसिद्ध टाई-एंड-डाई प्रोजेक्ट भी बनाए जा सकते हैं!

वाह! ऐसी बहुमुखी जड़ वाली सब्जी जो न केवल इतने सारे पौधे-आधारित पोषक तत्व प्रदान करती है, बल्कि एक सब्जी होने से भी बहुत आगे निकल जाती है। अपनी अगली खरीदारी सूची में कुछ चुकंदर जोड़ने का समय आ गया है!!!

image-description
report Report this post