हर महिला को अपने फोन में जरुर सेव करने चाहिए ये महिला हेल्पलाइन नंबर्स

5 minute
Read
महिला हेल्पलाइन नंबर्स.webp

हमारे देश में सदियों से नारी को देवी के समान पूजा जाता है। लेकिन फिर भी महिलाओं के साथ होने वाले अपराध कम होने के बजाय दिन प्रतिदिन बढ़ रहे है। हमारा समाज पुरुष प्रधान है, लेकिन सुरक्षा एवं सम्मान सभी का अधिकार है। महिलाओं के खिलाफ हिंसा किसी भी देश की प्रगति में बाधक है। घरेलू हिंसा से बाहर निकलकर देखें तो बाहर भी महिलाओं के साथ कई तरह के अपराध किए जा रहे है। इन अपराधों को रोकने और महिलाओं की मदद करने के लिए कई सामाजिक संस्थाएं, राज्य और केंद्र सरकार द्वारा महिला हेल्पलाइन चलाई जा रही है। यदि किसी महिला के साथ किसी तरह का अपराध किया जा रहा है तो वह महिला हेल्पलाइन के जरिए मदद मांग सकती है। 

महिला हेल्पलाइन की जरुरत क्यों -

हमारे देश में महिलाओं के खिलाफ अपराध की स्थिति को देखते हुए महिला हेल्पलाइन की जरुरत है। महिला हेल्पलाइन के जरिए काफी हद तक महिलाओं को मदद मिल रही है। हालांकि अब भी बड़ी संख्या में महिलाओं के खिलाफ अपराध हो रहे है और वे किसी तरह की हेल्पलाइन से मदद नही ले पा रही है। महिलाएं हिंसा या किसी दूसरे तरह के अपराध का शिकार घर, सार्वजनिक स्थान या दफ्तर में हो सकती है। हमारे देश में महिलाओं के साथ कई तरह के अपराध किए जा रहे है जिसमें दहेज, हत्या, यौन उत्पीड़न, महिलाओं से लूटपाट, नाबालिग से छेड़छाड़ और कई तरह के मानसिक और शारीरिक अपराध शामिल है। 

महिलाओं के लिए जरुरी हेल्पलाइन नंबर्स -

आज के समय में हर महिला को अपनी सुरक्षा के प्रति जिम्मेदार और जागरुक रहने की जरुरत है। यदि आपके साथ या किसी अन्य महिलाओं के साथ किसी तरह का अपराध हो रहा है तो तुरंत पुलिस सहित अन्य हेल्पलाइन नंबर पर सूचित करना चाहिए। हर महिला को अपने फोन में राज्य और केंद्र की सरकार द्वारा जारी किए गए महिला हेल्पलाइन नंबर को सेव करके जरुर रखना चाहिए। इन नंबरों को फोन में सेव करके रखने से जरुरत पड़ने पर तुरंत मदद मांगी जा सकती है।

महिला हेल्पलाइन नंबर्स -

देशभर में महिला सुरक्षा के लिए कुछ कॉमन नंबर्स के अलावा विभिन्न प्रदेशों के अपने अलग हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए है। इन फोन नंबर्स पर किसी भी वक्त कॉल करके शिकायत दर्ज कराई जा सकती है। महिलाओं के लिए जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर्स इस प्रकार है -

पुलिस - 100, 112राष्ट्रीय महिला आयोग - 011-26942369, 26944754
महिला हेल्पलाइन घरेलू शोषण - 181
महिला हेल्पलाइन (अखिल भारतीय) - 1091
महिला रेलवे सुरक्षा हेल्पलाइन नंबर - 182
चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर - 1098
दिल्ली महिला आयोग - 011-23378044, 23378317, 23370597
राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग - 011-23385368, 9810298900
ऑल इंडिया वुमंस कॉन्फेरेंस - 011-43389100, 011-43389101, 011-43389102, 011-43389103
स्नेहा एनजीओ (मुंबई के लिए) - 98330 52684, 91675 35765
जागोरी - 011-26692700
सार्थक - 011-26853846, 26524061
नारी रक्षा समिति - 011-23973949
प्रतिधि (कानूनी मदद) - 011-22527259

वेबसाइट पर भी दर्ज करा सकते है शिकायत -

महिलाओं हेल्पलाइन नंबर्स के अलावा राष्ट्रीय महिला आयोग द्वारा ऑफिसियल वेबसाइट www.ncw.nic.in पर भी ऑनलाइन माध्यम से शिकायतें दर्ज कराई जा सकती है। ये नेशनल हेल्पलाइन सर्विस है जिसके माध्यम से किसी भी राज्य की महिला अपने खिलाफ हुए या हो रहे अपराध को लेकर शिकायत दर्ज करा सकती है। महिला आयोग इन शिकायतों पर पर्याप्त और शीघ्र राहत प्रदान करने की सुविधा उपलब्ध कराता है। इस हेल्पलाइन सेवा को डिजिटल इंडिया कॉर्पोरेशन, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सहयोग से विकसित किया गया है।

image-description
report Report this post